Breaking News

श्रीकृष्ण ने अश्वत्थामा को दिया अपना चक्र, जाने क्यों..?

Mahabharata stories in hindi
www.rahulguru.com
नमस्कार दोस्तों
                          क्या आप जानते हैं, एक बार भगवान श्री कृष्ण ने अपना गदा, चक्र, धनुष आदि शस्त्र अश्वत्थामा को दे दिए थे, लेकिन ऐसा क्यों किया भगवान श्री कृष्ण ने और क्या हुआ था इसके बाद, जानने के लिए यह पढ़े यह कथा, इस कथा का वर्णन महाभारत में किया गया है,

 कथानुसार :-
              एक बार जब सभी पांडव गण वन में निवास कर रहे थे, तो अश्वत्थामा भगवान श्री कृष्ण से मिलने द्वारिकापुरी गया, भगवान श्रीकृष्ण ने अश्वत्थामा का आदर सत्कार किया और दोनों एकांत में बैठकर बातें करने लगे, तभी अश्वत्थामा ने भगवान श्रीकृष्ण से कहा कि "हे मधुसूदन आप तो जानते हैं कि मेरे पास मेरे पिता द्वारा दिया हुआ ब्रह्मास्त्र है आप मुझसे वह दिव्यास्त्र लेकर आप अपना चक्र मुझे दे दीजिए, यह सुनकर श्री कृष्ण मंद मंद मुस्कुराए और बोले कि" ठीक है यह मेरे धनुष चक्र गधा आदि शस्त्र पड़े हैं, जो जो अस्त्र लेना चाहो वही मैं तुम्हें दे देता हूं, तुम जिसे उठा सको और जिसका प्रयोग तुम युद्ध में कर सको वही अस्त्र ले लो, और मुझे जो अस्त्र देना चाहते हो वहां भी मत दो,

 यह सुनकर अश्वत्थामा ने चक्र को लेने की इच्छा जताई और चक्र को उठाना चाहा, लेकिन वह चक्र को अपनी जगह से हिला भी ना सके, अश्वत्थामा के तमाम प्रयत्न असफल हो गए, तो वह भगवान श्री कृष्ण के पास वापस लौट आया, तब श्री कृष्ण ने कहा कि " हे वत्स मुझे सबसे प्रिय अर्जुन है आज तक तो उसने भी यह बात नहीं कही, मेरे भ्राता बलराम और मेरे पुत्र प्रद्युम्न ने भी यह बात नहीं कही, अतः हे द्रोणपुत्र फिर तुम इस चक्र को लेकर किसके साथ युद्ध करना चाहते हो,

यह सुनकर अश्वत्थामा ने कहा की " हे कृष्णा मैं आपका पूजन करके आपके ही साथ युद्ध करना चाहता था, इसी उद्देश्य से मैंने यह चक्र मांगा था, ताकि मैं अजेय हो जाऊं किंतु अब मैं अपनी मनोकामना पूर्ण किए बिना जा रहा हूं, आप सिर्फ इतना कह दीजिए कि " तुम्हारा कल्याण हो,  इस भयंकर चक्र को धारण करने की शक्ति आपके अलावा किसी में भी नहीं है, तब भगवान श्रीकृष्ण ने अश्वत्थामा को घोड़े तथा तरह तरह के रत्न देकर विदा किया,

दोस्तों आपको यह कथा कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताइएगा अच्छी लगी है तो लाइक शेयर करो :-  धन्यवाद

ज़ब युद्ध छोड़कर भागे श्री कृष्ण.....?
परमपिता ब्रम्हा की मृत्यु क्यों हुईं..?
शिवजी को स्तनपान कराया था इस देवी ने..?
ब्रम्हा, विष्णु, महेश का जन्म कैसे हुआ..?
भगवान शिव को वश मे कैसे करें..?

कोई टिप्पणी नहीं